यदि आप भी बैंक के फिक्स्ड डिपोजिट तथा पोस्ट ऑफिस सेविंग्स से प्राप्त कम रिटर्न से असंतुष्ट हैं तथा निवेश के एक ऐसे विकल्प की तलाश में जो आपको आपके निवेश के अनुरुप बेहतर रिटर्न प्रदान  करने में सक्षम हो तो म्युचुअल फंड जिसे हिन्दी में पारस्परिक निधि भी कहते हैं,आपके लिये एक बेहतरीन विकल्प साबित होगा जहाँ आप अपनी सुविधा तथा सामर्थ्य के अनुसार पैसे निवेश कर सकते हैं तथा बदले में बेहतर रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

mutual fund

  • म्युचुअल फंड एक ऐसा ट्रस्ट है जहाँ म्युचुअल फंड कम्पनियां कई निवेशकों से पैसा लेकर उसे अलग-अलग शेयर्स तथा बांड्स में इन्वेस्ट करती हैं जिसके लिये ये निवेशकों से कुछ पैसे चार्ज भी करती हैं, यदि आप चाहें तो ऑनलाइन माध्यम से भी म्युचुअल कम्पनी में सीधे इन्वेस्ट कर सकते हैं जिसके लिये आपको उनके वेबसाइट पर जाना होगा लेकिन यदि आपको यह प्रक्रिया मुश्किल लगती है तो आप कुछ कमीशन देकर किसी म्युचुअल फंड सलाहकार के माध्यम से भी निवेश कर सकते हैं जिसका यह फायदा होता है कि आपको शेयर मार्केट के बारे में अधिक रिसर्च नहीं करने पड़ता है और साथ ही आपके इंवेस्टमेंट की देखभाल फंड मैनेजर के द्वारा की जाती है।
  • म्युचुअल फंड को सम्हालने की जिम्मेदारी फंड मैनेजर की होती है जो कि बहुत ही कुशलता से निवेशकों की राशि को निवेश करते हैं जहाँ जोखिम कम से कम हो तथा रिटर्न्स बेहतर मिलें।
  • म्युचुअल फंड का एक सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें आपकी राशि किसी एक जगह निवेश करने के बजाय अलग-अलग जगहों पर निवेश की जाती है जिससे जोखिम कम होता है
  • म्युचुअल फंड का एक फायदा यह भी है कि अपने जरुरत के हिसाब से कभी भी निकाल सकते हैं।
  • इसका एक बड़ा फायदा सरल तथा कम खर्चीला होना भी है, म्युचुअम फंड में निवेश करने पर आपसे सलाना 1 से 2% तक चार्ज किया जाता है जो कि बाकी पूँजी निवेश सेवाओं से काफी कम होता है।
  • जैसे स्टॉक मार्केट में आपको शेयर्स मिलते है ठीक उसी प्रकार म्युचुअल फंड में निवेश करने पर आपको यूनिट्स मिलते हैं जो कि हमारे एनएवी पर निर्भर करता है जो कि प्रत्येक बिजनेस डे के रात के 9 बजे घोषित की जाती है।
  • म्युचुअल फंड की राशि एक साथ कई जगहों पर निवेश की जाती है जिससे यदि कहीं एक जगह आपको नुकसान भी होता है तो बाकी जगहों से आपके उस नुकसान की भरपाई हो जाती है।
  • म्युचुअल फंड में निवेश करने का फायदा टैक्स सेविंग में होता है।
  • इसका एक फायदा यह भी है कि इसमें होने वाले फायदे तथा नुकसान को सभी निवेशकों में बराबर भाग में बाँट दिया जाता है।