ज्यादातर मध्यवर्गीय परिवार अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिये अलग-अलग तरिके के बीमा पॉलिसीज में इंवेस्ट करते हैं इनमें से ही एक है स्वास्थ्य बीमा अर्थात हेल्थ इंश्योरेंश अथवा मेडिक्लेम। बीमारी किसी को भी बता के नहीं होती बीमारियाँ हम में से किसी को भी कभी भी हो सकती हैं और कई बार कोई बीमारी या दुर्घटना इतनी बड़ी होती हैं कि उस समय इलाज के लिये बीमार व्यक्ति तत्काल अस्पताल में भर्ती कराना पड़ता है ऐसे में अचानक कई बार पैसों की व्यवस्था करना मुश्किल हो जाता है ऐसे समय में अगर स्वास्थ बीमा हो तो इलाज में आसानी होती है और साथ ही आ अच्छे से अच्छे अस्पताल तथा अच्छे डॉक्टर्स से इलाज करा सकते हैं।

 मध्यवर्गीय लोगों के लिये स्वास्थ्य बीमा के फायदे
मध्यवर्गीय लोगों के लिये स्वास्थ्य बीमा के फायदे

दिनों दिन बढ़ती महंगाई के साथ ही मेडिकल सुविधाएँ भी महंगी होती जा रही हैं ऐसे में अस्पताल का खर्च, डॉक्टर की फीस, दवाईयों के पैसे तथा आदि भी बढ़ते जा रहें हैं अतः हेल्थ इंश्योरेंश आज के समय में सबकी जरुरत बन गई है। हेल्थ इंश्योरेंश लेने से बहुत सारी चिकित्सा सुविधाएँ प्राप्त होती हैं-

1-स्वास्थ बीमा लेने का आपको सबसे बड़ा फायदा मेडिकल इमरजेंसीज के समय होता है जब अचानक आई किसी मेडिकल इमरजेंसी में आप बीना कैश भी इलाज करा सकते हैं। ऐसे वक्त में आपको कैश की चिंता करने की आवश्यकता नहीं होती तथा आप आराम से अपना तथा अपने परिवार का इलाज करा सकते हैं।

2-कई हेल्थ कम्पनियां ऐसे हेल्थ पॉलिसीज भी ऑफर करती हैं जो आपको हॉस्पिटल में भर्ती होने से पहले तथा इलाज के दौरान खर्च तो उठाती ही हैं और साथ ही इलाज के बाद भी 60 दिनों तक सारे मेडिकल खर्च को कवर करती हैं।

3-यदि मरीज अपना इलाज विदेश में कराना चाहता है कुछ स्वास्थ्य बीमा कम्पनिज इलाज के खर्च के साथ ही खाने पीने तथा होटल में ठहरने और आने-जाने का भी खर्च उठाती हैं।

4-कई बार स्वास्थ्य बीमा के अन्दर कुछ खास प्लान्स में मरीज को इलाज के दौरान कैश भी प्रदान किया जाता है।

5-कुछ हेल्थ बीमा में फ्री हेल्थ चेकअप की सुविधा भी दी जाती है जो साल में आक बार होता है।

6-यदि आपने पिछले एक वर्ष मे कोई भी क्लेम फिल नहीं किया तो आपको कुछ बोनस प्वाइंट मिलते हैं जिससे आपको प्रीमियम में 10 से 20 प्रतिशत तक छूट मिल जाती हैं, वहीं कुछ कम्पनियां फ्री मेडिकल चेकअप की सुविधा भी प्रदान करती हैं।

7-हेल्थ इमश्योरेंश पॉलिसीज लेने से आपको सेक्शन 80डी के तहत टैक्स में भी कुछ छूट मिलता है।

8-यदि किसी गंभीर बिमारी के कारण मरीज को अंग प्रत्यारोपण करवाना पड़े तो हेल्थ बामीमा पॉलिसीज उसे भी कवर करती हैं। इसके साथ ही अस्पताल आने-जाने के लिए एंबुलेंस का खर्च भी वहन करती हैं।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of