प्रधानमंत्री मुद्रा योजना प्रधानमंत्री मोदी एवं उनकी पार्टी की प्रमुख नीतियों में से एक नीति है। प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार यह योजना 5 करोड़ से भी अधिक लोगों को लक्षित करती है। प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार यह योजना छोटे उद्मियों के लिए सफलता का एक बहुत बड़ा ज़रिया होगी एवं उन्हें सहायता प्रदान करेगी, जो की भारत की अर्थव्यवस्था को विकसित करने में एक बहुत बड़ा योगदान प्रदान करते हैं

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की सम्पूर्ण जानकारी

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के मुख्य बिंदु

सरकार के अनुसार प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 58 मिलियन से भी अधिक व्यापार मालिकों के लिए सहायक उपयुक्त होगी। ये एक ऐसा क्षेत्र है जिसमे 120 से भी अधिक लोग नियोजित है, इनमें काम करने वाली जनसंख्या अधिकतर निम्न वर्ग के क्षेत्रों में से है।

भारत में छोटे व्यापार मालिकों के बहुमत अधिकतर मुख्यधारा के बैंक ऋण से मुक्त रहते हैं। ऐसा सिर्फ इसलिए है क्योंकि बैंकों और वित्तीय संस्थानों में अकसर अपने व्यापार और व्यापार के लिए अपने उत्पादों और सेवाओं पर ध्यान केंद्रित किया जाता है, जो उच्च ब्याज पर चुकाना होता है और जिससे उनका धन सुरक्षित रहता है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना इस प्रवृति को बदलने में सहायक है।

संस्थागत वित्त छोटे व्यवसायों के लिए हमेशा प्रासंगिक रहा है I जबकि, क्रेडिट सुविधा का अपर्याप्त संगठित और असभ्य प्रबंधन का मुनाफा लघु व्यवसायियों के लिए वास्तव में इससे पहले कभी नहीं किया गया है I इस विषय में प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना कई युवाओं और नवोदित उद्यमीओं के लिए उनके सपनों को पूरा करने का मुख्य जरिया है I

हमेशा से ही पुनर्भुगतान चिंता का एक प्रमुख विषय रहा है कि वित्तीय संस्थान छोटे व्यापार मालिकों को आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान नहीं कर पाए प्रधानमंत्री कार्यालय की इस पहल के साथ, मुद्रा योजना इस हिस्से की देखभाल करने में सक्षम है I इस तरह वित्तीय संस्थानों और जरूरतमंद छोटे व्यापार मालिकों को यह मुद्रा योजना एक ही मंच पर आने में मदद करती है।

प्रधान`मंत्री मुद्रा योजना के प्रमुख उत्पाद संबंधित योगदान

सरकार ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत उधारकर्ताओं को 3 क्षेत्रों में वर्गीकृत किया है:

शुरुआत, मध्य स्तर, एवं अगले स्तर के विकासकर्ता

इन 3 खण्डों को सम्बोधित करने के लिए, मुद्रा बैंक ने 3 मुद्रा ऋण उपकरणों की शुरुआत की है:

1. शिशु:  इसमें 50,000 रुपये तक का ऋण कवर होता है I

2. किशोर:  यह 5 लाख तक के ऋण को शामिल करता है I

3. तरुण: इसमें 5 लाख से अधिक और 10 लाख तक का ऋण शामिल है I

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत भविष्य के लिए न्योजित योगदान

मुद्रा ऋण मेला: भारतीय सरकार देश के कई हिस्सों में मुद्रा ऋण मेला योजना का आयोजन कर रही है I यह मेले देश के विभिन्न हिस्सों में कुछ दिनों के लिए आयोजित किये जाते हैं जिनमें छोटे व्यवसायों के वित्त पोषण के लिए ऋण लागू किया जाता हैमुद्रा ऋण मेला में ऋण 50,000 रुपये से लेकर 10 लाख तक होता है