आजकल अपने व्यापार में लाभ को बढ़ाना बेहद ही कठिन हो गया है यदि आप लाभ के अन्तर को बढ़ाना चाहते हैं तो आपको अपने विक्रय को बढ़ाने के साथ ही साथ लागत में भी कटौती करनी पड़ेगी, लागत पर की गई कटौती का सीधा असर राजस्व पर दिखता है खासकर छोटे व्यवसायों में अतः यह तय करना कि कहाँ और किस प्रकार के खर्चों में कटौती की जाए यह भी एक बेहद कठिन कार्य है  अतः यदि आप लम्बे समय के लिए अपने व्यवसाय के लागत तथा खर्चों को कम करने का हल ढ़ूँढ रहे हैं तो इस लेख को अवश्य पढ़ें-

श्रम तथा श्रमिक किसी भी व्यवसाय के लिये सबसे आवश्यक तथा बड़े मदों में से एक है अतः बजाय इनमें कटौती करने के कुछ कर्मचारी मदों में कटौती करें हाँलाकि मालिक तथा कर्मचारी कोई भी श्रमिक लाभ को कम नहं करना चाहते किन्तु यदि आपका व्यापार एक कठिन आर्थिक दौर से गुजर रहा हो तो यह करना आवश्यक हो जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि आपका संस्थान अपने कर्मचारियों को मुफ्त भोजन प्रदान करता है तो आप उसमें कटौती कर सकते हैं तथा पूरे दिन में केवल एक बार दोपहर को खाना मुफ्त प्रदान करें। साथ ही अपने कर्मचारियों के उत्पादकता को बढ़ाने का प्रयास करें अर्थात किसी भी नये कार्य के लिए नये स्टाफ की भर्ती करने के बजाय अपने पुराने स्टाफ पर भरोसा करें यह उन्हें कुछ नया करने के लिए प्रोत्साहित करेगा और आपके नये कर्मचारी के खर्च को भी बचाएगा पर साथ ही आप अपने स्टाफ को समय-समय पर प्रशिक्षित भी करे और उस पर आने वाले लागत में किसी भी प्रकार की कोताही ना करें क्यूँकि यह आपके व्यापार के उत्पादकता को प्रभावित करेगा।

गो ग्रीन अर्थात पर्यावरण के नजदीक जाएं तथा पर्यावरण के अनुकूल उत्पादों का प्रयोग करें आप अपने कार्यस्थल पर ऊर्जा के खपत को करने के लिए कॉम्पैक्ट फ्लोरोसेंट लाइटिंग का प्रयोग कर सकते हैं जो कि सामान्य लाइट बल्बों से ज्यादा चलते हैं तथा पर्यावरण के अनुकूल भी होते हैं और साथ ही कार्यस्थल से जुड़ी किसी भी प्रकार के संचार के लिए ई-मेल तथा अन्य इलेक्ट्रिक साधनों का प्रयोग करें। अपने व्यापार से जुड़े काम के लिए अलग-अलग सॉफटवेयर का प्रयोग करने के बजाय किसी एक ही सॉफ्टवेयर द्वारा सम्पूर्ण कार्यविधि को संचालित करें जिससे श्रम तथा अनावश्यक खर्च दोनों में बचत होगी हाँलाकि छोटे व्यवसायों के लिए एक स्वचालित सॉफ्टवेयर लगाना  बेहद ही खर्चीला हो सकता है किन्तु लम्बे अवधि के लिये यह आपके बचत का कारण बनेगा। इसके साथ ही आप अपने व्यापार के पूरे खर्चों का लेखाजोखा रखें तथा व्यापार के लागत का ऑडिट भी करें इससे आपको यह जानने में आसानी होगी कि आपके पैसे कहाँ खर्च हो रहे हैं जिससे आप अनावश्यक खर्चों पर कटौती कर पाएगें और साथ ही अपने व्यापार तथा उसपर आने वाले लागत के लिए एक बजट बवनाये तथा उसपर स्टिक रहें, टलीकऑन्फ्रेस सेवाओं तथा ऑनलाइन भुगतान सेवाओं का प्रयोग करें जो कि आपके बिजनेस लागत को कम करने मददगार साबित होंगे।